Study Material :प्रेमचंद द्वारा लिखित सेवा मार्ग कहानी का सारांश | Summary of Seva Marg Story Written by Premchand

प्रेमचंद द्वारा लिखित सेवा मार्ग कहानी का सारांश

कहानी का परिचय​ (Introduction to the Story) सामाजिक रूप से यह मनोवैज्ञानिक रूप से भी एक व्यक्ति दूसरे व्यक्ति का कैसे दिल जाती सकता है। यदि कोई व्यक्ति अपनी सारी दौलत लूटा दे, तो क्या तब भी किसी व्यक्ति का हृदय जीत सकता है। क्या समाज में सभी को धन का लालच होता है? या … Read more

Study Material : प्रेमचंद द्वारा लिखित शांति कहानी का सारांश | Summary of Shanti story written by Premchand

प्रेमचंद द्वारा लिखित सेवा मार्ग कहानी का सारांश

कहानी का परिचय (Introduction to the story) समाज के लगभग सभी माता-पिता की एक ही इच्छा होती है, कि उसकी संतान हमेशा खुश रहे उसे कभी कोई तकलीफ न हो। खासतौर से जब वह संतान बेटी हो, तो माता-पिता की चिंता और बढ़ जाती है। प्रत्येक माता-पिता अपनी संतान को बेहतर भविष्य देने का हर … Read more

NET JRF : आसाढ़ का एक दिन नाटक का सारांश व मुख्य संवाद | Summary and Main Dialogues of the Play Asadh Ka Ek Din

आसाढ़ का एक दिन नाटक का सारांश

आसाढ़ का एक दिन का परिचय (Aasaadh Ka Ek Din Ka Parichay) आसाढ़ का एक दिन 1958 ईसवी में प्रकाशित हुआ था। 1959 में इस नाटक को संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। इस नाटक का अनेको बार मंचन किया जा चुका है। 1971 में निर्देशक मणि कौल ने इस पर आधारित … Read more

Study Material : आधे-अधूरे नाटक का सारांश व समीक्षा । Summary and Review of the Play Aadha-adhure

आधे अधूरे नाटक का सारांश

भूमिका कौन ज्यादा मेहनत करता है, या किसका काम ज़्यादा कठिन या मूल्यवान है, इस बात पर अक्सर पति-पत्नि के बीच तर्क वितर्क होता रहता है। दोनों को अपना काम मुश्किल और सामने वाला का काम असान लगता है। पुरूष को लगता है, स्त्री का काम असान है, क्योंकि वह घर पर रहती है। स्त्री … Read more

Study Material : शंखनाद कहानी का सारांश | Summary of Shankhnaad Story

शंखनाद

शंखनाद कहानी का परिचय (Introduction to Shankhnaad story) यह तो हम सभी जानते हैं, कि किसी व्यक्ति को समाज में सम्मान उसके व्यक्तित्व से ज़्यादा इस बात पर मिलता है कि वह कितना समृद्ध है। उसके पास कितनी धन दौलत है या उसके पास समाज में कितना दबदबा है। लेकिन यह स्थिति सिर्फ समाज में … Read more

कायाकल्प उपन्यास का संक्षिप्त सारांश | Brief Summary of Kayakalp Novel

कायाकल्प उपन्यास का संक्षिप्त सारांश | Brief Summary of Kayakalp Novel

प्रेमचंद द्वारा लिखा उपन्यास कायाकल्प (Novel Kayakalp written by Premchand) कायाकल्प उपन्यास का परिचय (Introduction to Kayakalp Novel) लगभग हर व्यक्ति की यह इच्छा होती है कि वह कभी बूढ़ा न हो। यदि उम्र बढ़ भी रही है, तो वह उसके चेहरे से नज़र न आए। ऐसी ही इच्छा प्रेमचंद जी के लिए उपन्यास कायाकल्प … Read more

Study Material : कायाकल्प उपन्यास का सारांश | Summary of Kayakalp Novel

प्रेमचंद द्वारा लिखित सेवा मार्ग कहानी का सारांश

प्रेमचंद द्वारा लिखित उपन्यास कायाकल्प | Novel Kayakalp written by Premchand अध्याय एक इस अध्याय में सूर्यग्रहण लगा है, श्रद्धालुं त्रिवेणी के घाट (नदी) पर स्नान करने आए हैं। भीड़ बहुत ज़्यादा हो गई है, जिसे नियंत्रित करने का असफल प्रयास किया जाता है। इस भीड में बहुत लोग एक-दूसरे से बिछड़ जाते हैं, कुछ … Read more

IGNOU Study Material : बचपन का सारांश व समीक्षा | Childhood Summary and Review

बचपन

Class – 6 : कृष्णा सोबती का संस्मरण बचपन | Krishna Sobti ka Sansmaran Bachpan कृष्णा सोबती का परिचय (Introduction of Krishna Sobti) कृष्णा सोबती का जन्म 18 फरवरी 1925 में हुआ था। उनकी मृत्यु  25 जनवरी 2019 में हुई है। उनका जन्म गुजरात में हुआ था, गुजरात का वह हिस्सा अब पाकिस्तान में है। … Read more

IGNOU Study Material : सिक्का बदल गया | Sikka Badal Gaya

सिक्का बदल गया

IGNOU MHD- 3 कृष्णा सोबती की कहानी सिक्का बदल गया सिक्का बदल गया कहानी का परिचय (Introduction to the Sikka Badal Gaya story) परिवार के मुखिया पर घर की ज़िम्मेदारी होती है, परिणाम स्वरूप परिवार से जुड़े अधिकतर निर्णय मुखिया ही लेता है। लेकिन कभी कभी मुखिया बहुत समझदार होने के बाद भी कुछ ऐसा निर्णय … Read more

IGNOU Study Material : रोज़ या गैंग्रीन कहानी का सारांश | Summary of Rose or Gangrene Story

रोज़ कहानी का सारांश

IGNOU MHD- 3 अज्ञेय की लिखी कहानी रोज़ या गैंग्रीन | Story written by Agyeya Rose or Gangrene रोज़ कहानी का परिचय (Introduction to Rose Story) अक्सर हमने कहते सुना है, जीवन में उतार-चढ़ाव लगा ही रहता है। सुख-दुख का आना जाना समान्य बात है, सुख दुख के कारण ही व्यक्ति के मनोभावों में परिवर्तन आता … Read more